अलीबाबा के रेवेन्यू में सालाना आधार पर 61% बढ़ोतरी, अमेरिकी बाजार में शेयर 5% उछला

Business

अप्रैल-जून तिमाही में रेवेन्यू 85,600 करोड़ रुपए रहा

Shared News | Last Modified – Aug 24, 2018, 07:26 AM IST

– क्लाउड कंप्यूटिंग रेवेन्यू में सालाना आधार पर 93% बढ़ोतरी

नए क्षेत्रों में आक्रामक निवेश रणनीति से मार्जिन घटा

न्यूयॉर्क. चीन की ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा ने गुरुवार को तिमाही (अप्रैल-जून) नतीजों का ऐलान किया। इसके रेवेन्यू में सालाना आधार पर 61% बढ़ोतरी हुई है। जून क्वार्टर में ये 85,600 करोड़ रुपए (80.92 अरब युआन) रहा। पिछले साल की इसी तिमाही में रेवेन्यू 50.18 अरब युआन था। गुरुवार को अमेरिकी शेयर बाजार खुलते ही कंपनी का शेयर 5% तेजी के साथ 186.30 डॉलर पर पहुंच गया। प्री-ओपनिंग में भी 3% की तेजी देखी गई। हालांकि, क्लोजिंग 3.16% गिरावट के साथ 172.23 डॉलर पर हुई। कंपनी अमेरिकी शेयर बाजार में लिस्टेड है।

हालांकि, कंपनी की नेट इनकम में 40.8% गिरावट आई है। ये 8.69 अरब युआन रही। अप्रैल-जून 2017 में नेट इनकम 14.68% रही थी। प्रति शेयर कमाई 2.79 युआन से बढ़कर 3.30 युआन हो गई है।



कोर कॉमर्स रेवेन्यू में 61% बढ़ोतरी: ग्रुप की ऑनलाइन शॉपिंग बेवसाइट टीमॉल और टाओबाओ इसके कोर बिजनेस का बड़ा हिस्सा हैं। 86% रेवेन्यू इन्हीं से आता है। कोर कॉमर्स रेवेन्यू इस बार 69.19 अरब युआन रहा। सालाना आधार पर ये 61% ज्यादा है। कंपनी का कहना है कि ताओबाओ ऐप के मंथली एक्टिव यूजर की संख्या बढ़ने और नई रिटेल स्ट्रैटजी से ग्रोथ में मदद मिली। कंपनी ने हेमा ब्रांड नेम से स्टोर खोले और फूड डिलीवरी ऐप एली.मी को खरीदा।


कंपनी के क्लाउड कंप्यूटिंग रेवेन्यू में सालाना आधार पर 93% बढ़ोतरी हुई है। ये 4.7 अरब युआन रहा। कंपनी ने दुनियाभर में नए डेटा सेंटर खोले। यूरोप जैसे प्रमुख बाजारों में नए प्रोडक्ट लॉन्च किए।

ऑपरेटिंग मार्जिन घटकर 10% रहा: इस साल अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी का ऑपरेटिंग मार्जिन घटकर 10% रह गया। पिछली तिमाही (जनवरी-मार्च) में ये 15% और अप्रैल-जून 2017 में 35% था। एक्सपर्ट के मुताबिक नए सेक्टर में कंपनी के तेजी से निवेश की रणनीति के चलते मार्जिन कम हुआ है। हालांकि, अलीबाबा का कहना है कि कर्मचारियों को शेयर बेस्ड कंपेंसेशन की वजह से मार्जिन घटा है। आगे भी मार्जिन पर दबाव रह सकता है।



Leave a Reply