मुजफ्फरनगर के गांव में आसमान से गिरे पत्थर, 15 साल पहले भी गिरा था उल्का पिंड

Media Update

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के कसौली गांव में आसमान से दो गर्म पिंड गिरे हैं. ग्रामीणों का दावा है कि दोनों उल्का पिंड हैं. करीब 15 साल पहले भी यहां उल्का का टुकड़ा गिरा था जिसका वजन 19 किलो था.

मुजफ्फरनगर: उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले के कसौली गांव में आसमान से दो गर्म पिंड गिरे हैं. ग्रामीणों का दावा है कि दोनों उल्का पिंड हैं. करीब 15 साल पहले भी यहां उल्का का टुकड़ा गिरा था जिसका वजन 19 किलो था.

उप-जिला मजिस्ट्रेट कुमार धर्मेन्द्र ने बताया कि चरथावल थाना क्षेत्र के गांव में बारिश के बाद तेज आवाज के साथ दो गर्म पत्थर गिरे. उन्होंने बताया कि पत्थरों को जांच के लिए सुरक्षित रख लिया गया है और इसके उल्का पिंड होने के बारे में विशेषज्ञ ही बता सकते हैं.

दोनों गर्म पत्थर ग्रामीण सुखपाल के आंगन में गिरे. स्थानीय कालेज में भूगोल के प्रोफेसर नीरज त्यागी ने बताया कि यह पत्थर बड़े उल्का पिंड का हिस्सा हो सकते हैं.

यह जिले में पहला मामला नहीं है. नवंबर 2003 में कसौली गांव में बड़े काले रंग का एक उल्का पिंड पाया गया था जिसकी बाद में वैज्ञानिकों ने पुष्टि की थी. इस उल्का का व्यास 29 सेमी था और मोटाई 11 सेमी थी. इसके गिरने से गांव की जमीन में 15 इंच का गड्ढा बन गया था. इसी प्रकार 2009 में जिले के करीमपुर गांव में दो उल्का पिंड पाए गए थे.
Shared News | Updated: 29 Jun 2018 05:31 PM



 

Leave a Reply

Your email address will not be published.