17 दलों की चुनाव आयोग से मांग, बैलेट पेपर से हो 2019 का अाम चुनाव

Politics

नई दिल्ली [एजेंसी]। ईवीएम को लेकर चल रही बहस के बीच सूत्रों के हवाले से ख़बर है कि करीब 17 राजनीतिक दलों ने चुनाव आयोग से साल 2019 के आम चुनाव बैलेट पेपर पर कराए जाने की अपील की है। इनमें ज्यादातर विपक्षी दल शामिल हैं।

गौरतलब है कि ईवीएम में गड़बड़ी संबंधी ख़बरों के चलते चुनावों की विश्वसनीयता प्रभावित हो रही है। हर बार कोई न कोई राजनीतिक दल ईवीएम को मु्द्दा बना देता है। हालांकि, अभी स्पष्ट नहीं है कि चुनाव आयोग की इस मांग पर क्या प्रतिक्रिया होगी। लेकिन ये भी स्पष्ट है कि चुनाव आयोग लगातार ईवीएम को भरोसेमंद कहता आ रहा है।

वैसे जून में देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त ओ पी रावत ने चुनावों के लिए बैलेट पेपर को वापस लाने की सभी संभावनाओं को खारिज करते हुए कहा था कि ईवीएम को बलि का बकरा बनाया जा रहा है, क्योंकि मशीनें बोल नहीं सकतीं’ और राजनीतिक दलों को अपनी हार के लिए किसी न किसी को जिम्मदार ठहराने की जरूरत होती है।

कई मौकों पर विपक्षी पार्टियां ईवीएम में गड़बड़ी का आरोप लगा चुकी हैं। 2014 के बाद कई पार्टियों ने ईवीएम में गड़बड़ी को अपनी हार का जिम्मेदार ठहराया। उत्तरप्रदेश चुनाव के बाद बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी ने ईवीएम में गड़बड़ी की बात कही थी। वहीं पंजाब चुनाव के बाद आम आदमी पार्टी के प्रमुख और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ईवीएम का मुद्दा उठाया था।

Leave a Reply