Save Tree & Save Water

5 जून 2021 विश्व पर्यावरण दिवस के उपलक्ष्य भाजपा के शीर्ष नेतत्व में पूर्व विधायक व @BJP4Delhi प्रवक्ता श्री @SatPrakashRana जी के द्वारा 21000 पौधे लगने व उन्हें संरक्षित करने का संकल्प लिया गया। #सासें हो रही है कम आओ पेड़🌳 लगाएँ हम। #सेवा ही संगठन के तहत #sat_parkash_rana जी के नेतृत्व में #इक्कीस_हजार_पौधारोपण व […]

Continue Reading

Teacher’s Day 2020: Inspirational Quotes by Dr Sarvepalli Radhakrishnan on Education

Teacher’s Day 2020, Sarvepalli Radhakrishnan Quotes, Thoughts: Seek inspiration from these motivational quotes from one of India’s greatest academician. Sarvepalli Radhakrishnan Quotes: One of the most distinguished scholars of the 20th century, Sarvepalli Radhakrishnan’s birth anniversary is celebrated as Teacher’s Day on September 5 every year since 1962. Radhakrishnan, who served as the first Vice […]

Continue Reading

व्याकरण की परिभाषा

व्याकरण- व्याकरण वह विद्या है जिसके द्वारा हमे किसी भाषा का शुद्ध बोलना, लिखना एवं समझना आता है। भाषा की संरचना के ये नियम सीमित होते हैं और भाषा की अभिव्यक्तियाँ असीमित। एक-एक नियम असंख्य अभिव्यक्तियों को नियंत्रित करता है। भाषा के इन नियमों को एक साथ जिस शास्त्र के अंतर्गत अध्ययन किया जाता है […]

Continue Reading

लिपि किसे कहते है ?

लिपि -शब्द का अर्थ है-‘लीपना’ या ‘पोतना’ विचारो का लीपना अथवा लिखना ही लिपि कहलाता है। दूसरे शब्दों में- भाषा की उच्चरित/मौखिक ध्वनियों को लिखित रूप में अभिव्यक्त करने के लिए निश्चित किए गए चिह्नों या वर्णों की व्यवस्था को लिपि कहते हैं। हिंदी और संस्कृत भाषा की लिपि देवनागरी है। अंग्रेजी भाषा की लिपि रोमन पंजाबी […]

Continue Reading

भाषा के विविध रूप

हर देश में भाषा के तीन रूप मिलते है- (1) बोलियाँ (2) परिनिष्ठित भाषा (3) राष्ट्र्भाषा (1) बोलियाँ :- जिन स्थानीय बोलियों का प्रयोग साधारण अपने समूह या घरों में करती है, उसे बोली (dialect) कहते है। किसी भी देश में बोलियों की संख्या अनेक होती है। ये घास-पात की तरह अपने-आप जन्म लेती है […]

Continue Reading

भाषा का उद्देश्य

भाषा का उद्देश्य भाषा का उद्देश्य है- संप्रेषण या विचारों का आदान-प्रदान। भाषा के उपयोग भाषा विचारों के आदान-प्रदान का सर्वाधिक उपयोगी साधन है। परस्पर बातचीत लेकर मानव-समाज की सभी गतिविधियों में भाषा की आवश्यकता पड़ती है। संकेतों से कही गई बात में भ्रांति की संभावना रहती है, किन्तु भाषा के द्वारा हम अपनी बात […]

Continue Reading